शनिवार, अगस्त 12

समन्वय - साहित्यिक संस्था

समन्वय  ( सहारनपुर की एक अग्रणी साहित्यिक संस्था) 

स्थापना - वर्ष 1982
पंजीयन संख्या - 1365

संपर्क - N-59, पैरामाउंट ट्यूलिप, दिल्ली रोड, सहारनपुर-247001
फोन - कृष्ण शलभ - 09358326621,  विनोद भृंग - 9758350247

राष्ट्रभाषा हिन्दी का प्रचार-प्रसार तथा सृजनात्मक चेतना से प्रबुद्ध नागरिकों के साथ सार्थक संवाद बनाये रखने के निमित्त वर्ष 1982 में ’समन्वय’ संस्था की स्थापना हुई थी।  आत्मवत्‌ सर्वभूतेषु’ की भावना से जुड़े ’समन्वय’ का अर्थ है - जीवन जीने का आनन्द, श्रेष्ठ का सृजन और उसे विभिन्न माध्यमों से रूपायित करने का प्रयास !



समन्वय के उद्देश्य 

सहारनपुर नगर में साहित्यिक चेतना के दीप की लौ को अक्षुण्ण बनाए रखना।

 योजनाएं

  • सहारनपुर नगर तथा नगर के बाहर संपूर्ण राष्ट्र में साधनारत हिन्दी एवं अन्य भारतीय भाषाओं के विभिन्न विधागत सृजकों की साहित्य - साधना को समादृत किये जाने हेतु हिन्दी दिवस पर उन्हें ’सारस्वत सम्मान’ एवं ’सृजन सम्मान’ प्रदान करना। 
  • जनपद में साहित्य, कला, संस्कृति और सामाजिक क्षेत्र में व्यक्तिगत एवं संस्थागत रूप से किये गये उल्लेखनीय योगदान के निमित्त ’समन्वय पुरस्कार’ तथा हिन्दी की सर्वांगीण चेतना के लिये ’राष्ट्रभाषा प्रोत्साहन पुरस्कार’ प्रदान करना।
  • नगर के अतीत एवं वर्तमान में साधनारत रचनाधर्मियों की साहित्यिक संपदा का अनुरक्षण एवं अनुसंधान।
  • सत्साहित्य का प्रकाशन एवं अन्य प्रान्तीय भाषाओं के साहित्य का हिन्दी में अनुवाद। 
  • समय-समय पर साहित्य के विधागत आयोजन एवं लोकोत्सवों के सरस कार्यक्रम आयोजित करना। 

संकल्प

समन्वय हिन्दी भवन का निर्माण

समन्वय के प्रकाशन

 प्रकाशन
रचनाकार
तुलसी सहन की  
इन्दिरा गौड़ 
क्या याद तुम्हें भी आता हूं 
वैद्य रतन लाल चातक
अंबेडकर 
डा. एन. सिंह
इन्द्रधनुष 
आर. पी. शुक्ल
श्रीगोगाचरित  (महाकाव्य) 
पूरन सिंह सैनी
आधी ज़िन्दगी पूरा सच
हरि राम पथिक
देवबन्द की स्वांग परम्परा
डा. सुरेन्द्र शर्मा 
आदमी ही तो हूं 
सुधीर परवाज़
मेरे पास तेरा दर्द है

गीत के मणिबन्ध    
कृष्ण शलभ
तल में हलचल जारी है 
 सुरेश सपन






         

समन्वय द्वारा सारस्वत  सम्मान

वर्ष
समारोह अध्यक्ष
सारस्वत सम्मान
1990
पद्मश्री देवेन्द्र सत्यार्थी
श्री अम्बा प्रसाद ’सुमन’
डा. कुंवर ’बेचैन’
डा. सुरेश चन्द्र त्यागी
पं. देवक राम सुमन
वैद्य शरदकुमार मिश्र ’शरद’
1991
डा. विजयेन्द्र स्नातक
पद्मश्री कन्हैयालाल मिश्र ’प्रभाकर’
पद्मश्री चिरंजीत
डा. देवेन्द्र ’दीपक’
डा. सुन्दर श्याम ’मुकुट’
डा. कृष्ण शंकर भटनागर
1992
डा. हरिकृष्ण देवसरे
डा. शशिप्रभा शास्त्री
1993
डा. रामदरश मिश्र
डा. महीप सिंह
श्रीमती इन्दिरा गौड़
1994
श्री योगेश गुप्त
श्री चन्द्रसेन ’विराट’
श्री ताराचन्द पाल ’बेकल’
श्री सुरेश सेठ
1995
श्री राजेन्द्र यादव
श्री मनोहर श्याम जोशी
श्री योगेन्द्र कुमार ’लल्ला’
1996
श्री विष्णु खन्ना
श्री अश्वघोष
1997
डा. सत्यकाम
श्री विजय
1998
डा. गोपाल राय
डा. विष्णुदत्त ’राकेश’
1999
डा. गिरिजाशंकर त्रिवेदी
श्री रवीन्द्रनाथ त्यागी
2000
श्री जयप्रकाश भारती
डा. हरिमोहन
2001
पद्मश्री कन्हैयालाल नन्दन
श्री विज्ञानव्रत
2002
पद्मश्री श्याम सिंह ’शशि’
श्री माहेश्वर तिवारी
2003
डा. कमल नयन कपूर
डा. गिरिराज शरण अग्रवाल
2004
डा. उदयभानु ’हंस’
श्री त्रिलोचन शास्त्री
2005
डा. बुद्धिनाथ मिश्र
श्री किशन ’सरोज’
2006
डा. के.के. शर्मा
डा. रामदरश मिश्र
2007
डा. अश्वघोष
श्री भारतभूषण
2008
डा. गुरचरण सिंह मेहता
डा. इसाक ’अश्क’
2009
श्री कृष्ण शलभ
श्री आर पी शुक्ल
2010
श्री आर.पी. शुक्ल
श्री से.रा. यात्री
2011
डा. योगेन्द्रनाथ शर्मा ’अरुण’
श्री गिरीश पाण्डे
2012
डा. अश्वघोष
डा. शेरजंग गर्ग
2013
डा. बुद्धिनाथ मिश्र
श्री कमलापति पांडेय
2014
श्री विज्ञानव्रत
श्री ज्ञानप्रकाश विवेक
2015
डा. शेरजंग गर्ग
श्री यश मालवीय

  समन्वय द्वारा सृजन सम्मान 

वर्ष
सृजन सम्मान
1998
श्री धनंजय सिंह
श्री दिनेश प्रभात
डा. रामनिवास ’मानव’
1999
श्री रोहिताश्व अस्थाना
डा. श्याम ’निर्मम’
2000
डा. अजय जनमेजय
श्री गिरीश पंकज
2001
श्री विनय कुमार मालवीय
श्री सुभाष चन्द्र कुशवाहा
2003
श्री नेमपाल प्रजापति
श्री योगेन्द्र पाल दत्त
2004
श्री हरिशंकर आशुतोष
2006
श्री कृष्ण ’सुकुमार’
श्री मनु स्वामी
2007
श्री राज गोपाल सिंह
2008
डा. कमलकांत बुधकर
2009
श्री कमलेश भट्ट ’कमल’
2010
डा. बलजीत सिंह
डा. दर्शन सिंह ’आशट’
डा. आर.पी. सारस्वत
2011
डा. शकुन्तला कालरा
श्री रमेश चन्द छबीला
2012
डा. नागेश पांडेय ’संजय’
श्री शिवराज राजू
श्री हरिराम पथिक
2013
श्री ओम प्रकाश यती
श्री राजेन्द्र ’राजन’
2014
श्री अनमोल शुक्ल ’अनमोल’
श्री सुरेश सपन
2015
श्री अशोक आनन्द
श्री रघुवीर सिंह ’अरविन्द’
2016

2017




1 टिप्पणी:

जो विशेष पसन्द किये गये !