रविवार, अगस्त 20

डी ए वी पब्लिक स्कूल का पूरा सहयोग मिलेगा आपके जन-जागरण अभियान को - मीनू भट्टाचार्य



सहारनपुर – 19 अगस्त – डी ए वी पब्लिक स्कूल सोनिया विहार के छात्र – छात्राओं ने नगर निगम के स्वास्थ्य अधिकारी गीता राम को आज सड़कों पर फेंके जा रहे कूड़े के बारे में प्रश्न पूछ – पूछ कर निरुत्तर कर दिया। दरअसल, विशिष्ट अतिथि के रूप में छात्र – छात्राओं से संवाद कर रहे नगर स्वास्थ्य अधिकारी ने बताया कि गीला कूड़ा और सूखा कूड़ा अलग – अलग डस्टबिन में रख कर सफाई कर्मचारी को देना चाहिये। इस पर कुछ छात्राओं ने पूछा कि सर, हम तो कूड़ा अलग – अलग करके देते हैं पर नगर निगम के सफाई कर्मचारी उसे पुनः एक ही जगह मिला कर सड़क पर फेंक देते हैं तो ऐसे में हमें क्या करना चाहिये? नगर स्वास्थ्य अधिकारी गीता राम ने कहा कि वह अभी दो महीने पहले ही सहारनपुर आये हैं और कचरे की वर्तमान अव्यवस्था को सुधारने में लगे हुए हैं।शहर में चार संस्थाओं को कूड़ा संग्रह का काम दिया गया है जिनमें दो संस्थाएं कूड़े से खाद भी बना रही हैं।  बाकी दो संस्थाएं भी शीघ्र ही खाद बनाने लगेंगी। 






द सहारनपुर डॉट कॉम द्वारा डी.ए.वी. पब्लिक स्कूल के सहयोग से आयोजित कचरा प्रबन्धन गोष्ठी का शुभारंभ परंपरागत रूप से सुश्री मीनू भट्टाचार्य, सुशान्त सिंहल, नीना धींगड़ा, रश्मि टेरेंस और विशिष्ट अतिथि गीताराम ने दीप प्रज्ज्वलन करके किया। स्कूल के हैड ब्वाय और हैड गर्ल ने अतिथियों के माथे पर तिलक लगा कर उनका अभिनन्दन किया। स्कूल के आचार्य प्रियवत शास्त्री ने छात्र-छात्राओं को देश – धर्म और संस्कृति के बारे में प्रेरणादायक वक्तव्य दिया। कक्षा 9 की मानवी आर्य, अंबिका वर्मा, सिया राणा, तृप्ति ठाकुर, शिवांगी, कंवलजीत कौर, प्रियंका सिंह, तन्नू निराला, श्रद्धा ने वेद की ऋचाओं का सस्वर पाठ और मंत्रोच्चार करके कार्यक्रम को गति प्रदान की।  श्रीमती कल्पना वर्मा ने कार्यक्रम का संचालन किया।   
द सहारनपुर डॉट कॉम की ओर से अध्यक्ष सुशान्त सिंहल, सचिव नीना धींगड़ा व संस्था के मार्गदर्शक मंडल की सदस्य मेरी डेल एकेडमी की प्रिंसिपल रश्मि टेरेंस द्वारा छात्र-छात्राओं को संबोधित करते हुए बताया गया कि छात्र-छात्रा के रूप में भी वह ठोस कचरे की इस विकराल समस्या के निदान में बहुत महत्वपूर्ण योगदान कर सकते हैं। द सहारनपुर डॉट कॉम के संस्थापक सुशान्त सिंहल ने बताया कि प्रतिदिन सहारनपुर में 400 टन कचरा निकलता है जिसके लिये नगर निगम के पास डंपिंग साइट भी नहीं है अतः लगभग सारा कचरा शहर के बाहर ले जाकर सड़कों के किनारे फेंका जा रहा है।  यदि हम विभिन्न प्रकार के कचरे को मिलाएं नहीं तो जिस कूड़े से खाद बन सकती है, उसे खाद बनाने वाली संस्था ले जायेगी। जिस कचरे को कबाड़ी खरीद कर ले जाते हैं उसे उनको बेच दिया जायेगा। इसके बाद जो बहुत थोड़ा सा कचरा बच रहेगा, सिर्फ उतना ही नगर निगम को डंपिंग साइट पर डालने के लिये दिया जाना चाहिये।


सुश्री मीनू भट्टाचार्य ने बताया कि डी ए वी पब्लिक स्कूल में विद्यार्थियों को स्वच्छता और सुन्दरता के संस्कार बाल्यकाल से ही दिये जाते हैं।  उन्होंने बताया कि उनके विद्यालय में पॉलिथिन का उपयोग भी निषिद्ध है। अतिथियों का स्वागत करते हुए उन्होंने कहा कि द सहारनपुर डॉट कॉम की इस मुहिम में उनका विद्यालय हमेशा साथ रहेगा।  विद्यालय की ओर से नगर स्वास्थ्य अधिकारी गीता राम तथा द सहारनपुर डॉट कॉम को प्राचार्या सुश्री मीनू भट्टाचार्य द्वारा तुलसी का पौधा देकर सम्मानित किया गया और आभार अभिव्यक्त किया गया।   

उल्लेखनीय है कि द सहारनपुर डॉट कॉम ने विभिन्न विद्यालयों में और आवासीय कालोनियों में जाकर ठोस कचरा प्रबन्धन को लेकर जन-जागरण का अभियान चलाया हुआ है जिसके अन्तर्गत इस संस्था के सदस्य एम.एस. कालेज, ज्ञानकलश स्कूल, हिन्दू कन्या इंटर कालेज, टैगोर गार्डन आदि में ऐसी गोष्ठियां आयोजित करते हुए घूम रहे हैं।  इन गोष्ठियों में सुशान्त सिंहल द्वारा बनाया गया वृत्त चित्र – “कचरे से दौलत तक” प्रदर्शित करते हुए जनता को कचरे का ठीस से प्रबन्धन न होने पर होने वाली बीमारियों और अन्य समस्याओं का विवेचन किया जा रहा है। 


कार्यक्रम में आयोजन में श्रीमती ऊषा शर्मा, श्रीमती अनिता सिंह, कु. मोनिका वत्स, श्रीमती ममता अग्रवाल, श्री सचिन कालरा, श्री सचिन गुलाटी, श्री प्रवेश मंडोलिया का विशेष सहयोग रहा।  

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

जो विशेष पसन्द किये गये !