शनिवार, अगस्त 5

जन जागरण में लगा है सहारनपुर पोर्टल

Dr. Rakhi Tyagi, member of thesaharanapur.com interacting with audience. 
सहारनपुर : 7 जुलाई - “सहारनपुर में प्रतिदिन 300 टन ठोस कूड़ा पैदा होता है जिसके लिये नगर निगम के पास डंपिंग साइट की कोई उचित व्यवस्था नहीं है। ऐसे में यदि हम सब नागरिक ठोस कचरे को ठीक से समझते हुए खुद ही उसका निदान करने लगें तो नगर निगम को सिर्फ 30 टन कचरे से ही निबटना पड़ेगा। शेष सारा कूड़ा या तो खाद बनाने में इस्तेमाल हो जायेगा या रि-साइकिल हो जायेगा।
आइये सीखें कि मुश्किल लगने वाला ये काम कैसे सरलता से किया जा सकता है!” कुछ इस अंदाज़ में द सहारनपुर डॉट कॉम के सदस्यों ने आज पेपर मिल रोड स्थित टैगोर गार्डन कॉलोनी के शिव मंदिर में उपस्थित क्षेत्रवासियों को ठोस कचरा प्रबन्धन के गुर सिखाये। भिन्न – भिन्न प्रकार के कूड़े का क्या करना है, इसे समझाने के लिये एक मनोरंजक क्विज़ कार्यक्रम का भी आयोजन द सहारनपुर डॉट कॉम ने किया जिसमें सही उत्तर देने वाले श्रोताओं को पुरस्कार बांटे गये।
Disposal of solid waste in scientific manner in Saharanpur
Animals feeding on solid waste become disease careers : Dr. Ravindra Rana, Chairman IIA Saharanpur

Quiz Master Gagandeep, member of thesaharanpur.com
सेमिनार के आरंभ में संस्था की सचिव नीना धींगड़ा ने सभी अतिथियों का स्वागत किया और द सहारनपुर डॉट कॉम की गतिविधियों से अवगत कराया। इसके बाद संस्था अध्यक्ष व संपादक सुशान्त सिंहल ने ’कचरे से दौलत तक’ लघु वृत्त चित्र प्रदर्शित किया जिसमें डा. रवीन्द्र राणा, चेयरमैन आई.आई.ए., निशि जैन चेयरपर्सन लॉयनेस क्लब, भागवत भूषण पं. जयप्रकाश याज्ञिक, नगर आयुक्त, और अंतर्राष्ट्रीय ख्यातिप्राप्त योगाचार्य आचार्य प्रतिष्ठा के संदेश भी शामिल हैं। संस्था के सदस्य विशाल श्रीवास्तव ने बताया कि उनके इंस्टीट्यूट में जब ये सेमिनार की गयी थी तो सभी फैकल्टी और छात्र-छात्राएं इतने उत्साहित हुए कि उन्होंने कूड़े वाली गली के रूप में कुख्यात अपनी सड़क को इतना साफ कर डाला कि “कूड़े वाली गली” में लोग अब कूड़ा ढूंढते रह जाते हैं।
  
इस आयोजन को सफल बनाने में  इंडियन हर्ब्स के अतिरिक्त श्री धन प्रकाश, श्रीमती करुणा प्रकाश, विजेन्द्र त्रिपाठी, मानव प्रकाश, नीना धींगड़ा, विशाल श्रीवास्तव, रश्मि टेरेंस, सूरज जैन, गगनदीप, संदीप शर्मा, अमित त्यागी का विशेष सहयोग रहा।

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

जो विशेष पसन्द किये गये !