सोमवार, अक्तूबर 15

’प्रवाह’ स्कूल के बच्चों ने मचाई धूम : आरोन एजुकेशन सोसायटी से कंप्यूटर मिला


’प्रवाह’ स्कूल को AEWS द्वारा भेंट किया गया कंप्यूटर पाकर खुशी से सराबोर बच्चे !  
सहारनपुर : 14 अक्तूबर – यदि आप के भीतर कुछ अच्छा करने की चाह है तो रास्ते निकल ही आते हैं।  आरोन एजुकेशन वेल्फेयर सोसायटी (AEWS) के सदस्य मानों मौके की तलाश में ही रहते हैं कि कहां किस की सहायता की जा सकती है।  पारुल सिंहल द्वारा तीन वर्ष पहले अपने घर के एक कमरे में ही, निर्धन परिवार के बच्चों को एकत्र करके ’प्रवाह’ नाम से एक स्कूल की शुरुआत की गयी थी जिसमें पांच वर्ष से 16 वर्ष की आयु के आज 35 बच्चे पढ़ रहे हैं। जब AEWS टीम को पता चला कि निस्वार्थ भाव से चलाये जा रहे इस स्कूल के बच्चों को कंप्यूटर का प्रशिक्षण देने के लिये एक कंप्यूटर की जरूरत है तो संस्था ने ठान लिया कि इस स्कूल को भी एक कंप्यूटर भेंट दिया जाना है।  संस्था इससे पहले भी हिन्दू कन्या इंटर कालेज की छात्राओं के लाभ के लिये 10 कंप्यूटर और रीति आश्रम स्कूल को 2 कंप्यूटर भेंट कर चुकी है।






प्रवाह स्कूल की एक विशेष बात ये है कि यहां पढ़ने वाले बच्चे अपने अपने परिवार की आर्थिक स्थिति सुधारने हेतु अपनी ओर से भी जीविका अर्जन करके योगदान देते हैं।  विद्यालय की प्रिंसिपल पारुल सिंहल का प्रयास है कि ये बच्चे पढ़ लिख कर योग्य बन सकें तो अपने परिवार का भविष्य उज्ज्वल कर सकेंगे।    

इस अवसर पर प्रवाह स्कूल के बच्चों ने अपनी प्रतिभा का परिचय देते हुए स्वागत भाषण पढ़ा बल्कि कविताएं, गीत आदि सुना कर अतिथियों का मनोरंजन भी किया।  इस अवसर पर AEWS संस्था की सम्पूर्ण टीम अध्यक्ष रश्मि टेरेंस के नेतृत्व में बच्चों के साथ इस प्रकार घुल मिल गयी मानों इन बच्चों से बहुत पुरानी दोस्ती हो।  AEWS की ही एक सदस्या शगुन खन्ना ने बच्चों के बीच में फर्श पर बैठ कर उनको सुलेख के गुर सिखाये।  संस्था के उपाध्यक्ष अधिराज गुलाटी ने बच्चों के साथ सामूहिक रूप से गीत सुनाया। 

AEWS के सचिव सुशान्त सिंहल ने प्रवाह स्कूल के छात्र – छात्राओं को संबोधित करते हुए कहा कि वह निश्चित रूप से सौभाग्यशाली हैं कि उनको ’प्रवाह’ स्कूल के रूप में शिक्षा पाने का सुअवसर मिला है जिसका उनको लाभ उठाते हुए स्कूली शिक्षा और कौशल विकास का प्रशिक्षण प्राप्त करना चाहिये ताकि वह एक अच्छे इंसान भी बन सकें और अच्छी जीविका पाने में भी सक्षम हो सकें। 

द सहारनपुर डॉट कॉम की सचिव श्रीमती नीना धींगड़ा ने कहा कि वह पारुल सिंहल द्वारा निर्धन बच्चों के बेहतर भविष्य के लिये निस्वार्थ भाव से आरंभ किये गये प्रवाह स्कूल के बच्चों में जो सकारात्मक परिवर्तन आ रहे हैं, उनको देख कर चमत्कृत हैं।  पारुल सिंहल वास्तव में ही इन बच्चों से बहुत लगाव रखती हैं और उनकी मित्र और शुभ चिन्तक बन कर उनको शिक्षित करने में लगी हुई हैं।  उनके प्रयासों को समर्थन देना हम सब का पावन कर्तव्य है।  इसीलिये उन्होंने AEWS संस्था से अनुरोध किया कि स्कूल को एक कंप्यूटर दिया जाये।  मुझे हर्ष है कि संस्था ने हमारे अनुरोध को स्वीकार करते हुए आज बच्चों के लिये एक कंप्यूटर भेंट किया है। 

AEWS की ओर से ज्योति अग्रवाल पार्षद,  जॉनी वर्मा, राहुल गुणदेव, नीलू खान, खेमचन्द सैनी, शगुन खन्ना आदि उपस्थित रहे।

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

जो विशेष पसन्द किये गये !