शनिवार, अक्तूबर 6

आवाज़ के सितारे 2018 ऑडिशन : छः घंटे तक बहती रही सुर सरिता, उमड़े सहारनपुर के सितारे


सहारनपुर : मानसी सांस्कृतिक चेतना मंच, सहारनपुर द्वारा आयोजित गायन प्रतियोगिता – आवाज़ के सितारे 2018 के प्रथम चरण में छः घंटे से भी अधिक समय तक चले कार्यक्रम में सुरों की सरिता में ऐसा अवगाहन किया कि सभी मंत्रमुग्ध होकर सुनते ही रह गये।  तीन आयु वर्गों में 170 प्रतिभागियों ने सहभागिता की जिसमें सफल रहे गायक कलाकारों को आगामी रविवार 14 अक्तूबर को जे.वी. जैन कालेज के ऑडिटोरियम में अंतिम चरण में अपनी गायन प्रतिभा का लोहा मनवाने का अवसर मिलेगा।
मानसी के वरिष्ठतम सदस्य की विशेष प्रस्तुति
जैसा कि मानसी सांस्कृतिक चेतना मंच के कार्यक्रमों की विशेषता रहती है, कलाकारों को फिल्म संगीत के स्वर्णिम युग माने जाने वाले कालखंड - यानि वर्ष 1990 तक के फिल्मी गीतों को चुनने के लिये प्रोत्साहित किया गया था और इसके लिये उनको अतिरिक्त नंबर देने की व्यवस्था की गयी थी। पांच वर्ष की आयु के बच्चों ने भी अपने जन्म से 30 वर्ष से भी अधिक पुराने गीतों का चयन करके इतने मधुर स्वर में गीत गाये कि श्रोता भावविभोर हो गये।
  
गायन प्रतियोगिता में शामिल हो रहे कलाकारों की भारी भीड़ को देखते हुए उनको केवल एक अन्तरा ही गाने की अनुमति दी गयी थी।  इसके बावजूद आज की प्रतियोगिता छः घंटे तक चलती रही। 
कार्यक्रम में विशिष्ट अतिथि के रूप में आम आदमी पार्टी की केन्द्रीय कार्यकारिणी के सदस्य किसान नेता योगेश दहिया, आरोन एजुकेशनल वेल्फेयर सोसायटी की अध्यक्ष और मेरी डेल एकेडमी की प्रिंसिपल रश्मि टेरेंस, सी.ए. योगेश गर्ग और मैजिकोन के निदेशक शशिकान्त त्यागी को प्रतीक चिह्न देकर सम्मानित किया गया।

गायक प्रतिभागियों की गायन कला का समुचित आकलन करने का महती उत्तरदायित्व प्रसिद्ध गायक श्री सुशील नाज़, श्रीमती रुचिन्द्रा, श्री अनुज जैन, श्री संदीप शर्मा, श्रीमती निशा गर्ग को दिया गया था जिसका उन्होंने बखूबी निर्वाह किया। कार्यक्रम का संचालन संयुक्त रूप से दीक्षा सेतिया, श्रीमती आशा गर्ग और मानसी के अध्यक्ष के.के. गर्ग ने किया।  गायकों को विभिन्न वाद्यों से सहयोग देने के लिये कीबोर्ड पर अमित कौशिक व उनकी पार्टी ने बखूबी साथ निभाया। विभिन्न आयु वर्ग के प्रतिभागियों के पंजीकरण के लिये अलग – अलग काउंटर बनाये गये थे और सभी कलाकारों को प्रशस्ति पत्र दिये गये और उनके लिये भोजन की व्यवस्था भी की गयी थी।  कार्यक्रम की सफलता सुनिश्चित करने हेतु मानसी सांस्कृतिक मंच की पूरी टीम ने बढ़ चढ़ कर विशेष योगदान दिया।
 

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

जो विशेष पसन्द किये गये !