नृत्य, गायन व रंगकर्म

काष्ठकला के अलावा यदि कोई और विधा सहारनपुर को विश्व भर में प्रतिष्ठा दिला रही हैं तो वह हैं - नृत्य, गायन व रंगकर्म !   सहारनपुर के विरद त्यागी जैसे पांच वर्ष के बच्चे जब सोनी टी.वी. चैनल के "सबसे बड़ा कलाकार" कार्यक्रम में सबको अपनी अभिनय प्रतिभा से चमत्कृत करते हुए 10,00,000 रुपये का प्रथम पुरस्कार व ट्रॉफी जीत कर लाते हैं, रुपाली जग्गा जैसी बालिका ज़ी टीवी पर सा-रे-गा-मा-पा कार्यक्रम में अपने मधुर गायन से पूरी दुनिया का दिल जीत लेती हैं, आचार्य प्रतिष्ठा शर्मा जब विश्व के अनेकानेक देशों में योग की शिक्षा देती हैं और कत्थक नृत्य से भारत को गौरवान्वित करती हुई भ्रमण करती हैं तो यह कहने में कोई अतिश्योक्ति नज़र नहीं आती कि सहारनपुर पश्चिमी उत्तर प्रदेश की सांस्कृतिक राजधानी के रूप में प्रतिष्ठित हो रहा है।

सहारनपुर में नृत्य शिक्षा 

वैष्णवी नृत्यालय

भारत कॉलेज ऑफ परफार्मिंग आर्ट्स (BCPA)

डांस दिवा 

सहारनपुर में रंगकर्म  

अदाकार ग्रुप

इप्टा

अभिनय मित्र

नाट्य

सहारनपुर में गायन प्रशिक्षण 

मानसी सांस्कृतिक चेतना मंच

श्री रोशन लाल जी 

सहारनपुर के सिद्धहस्त कलाकार 

शास्त्रीय गायन -   





 

   

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

जो विशेष पसन्द किये गये !