गुरुवार, अप्रैल 11

जे वी जैन कालेज सहारनपुर

सहारनपुर नगर के प्राचीनतम महाविद्यालयों में जे.वी. जैन (पोस्ट ग्रेजुएट) कालेज की स्थापना 1955 में हुई थी और यह संस्थान चौधरी चरण सिंह विश्व विद्यालय, मेरठ से सम्बद्ध है।  जे.वी. जैन कालेज को अल्पसंख्यक संस्थान की श्रेणी में सम्मिलित किया गया है।   यद्यपि इस महाविद्यालय में कला, विज्ञान व कॉमर्स, लॉ आदि विषय के पाठ्यक्रम उपलब्ध हैं, तथापि  इस महाविद्यालय को मुख्यतः कला विषयों के पाठ्यक्रमों के लिये जाना जाता है।

इस महाविद्यालय में निम्न विषयों के पाठ्यक्रमों का संचालन किया जा रहा है: - 

स्नातक स्तर के पाठ्यक्रम  Graduate Courses -

बी.ए.    (कुल 440 सीट, जिनमें 220 अल्पसंख्यकों के लिये आरक्षित हैं।) 

विषय -  हिन्दी,  अंग्रेज़ी, संस्कृत,  राजनीति विज्ञान, अर्थशास्त्र, भूगोल, इतिहास, सामाजिक विज्ञान,  ड्राइंग एंड पेंटिंग व शारीरिक शिक्षा।   

बी. कॉम   (कुल 240 सीट, जिनमें 120 अल्पसंख्यकों के लिये आरक्षित हैं।) 

बी.एस सी  (कुल 180 सीट, जिनमें 90 अल्पसंख्यकों के लिये आरक्षित हैं।)

विषय - भौतिकी, रसायन शास्त्र, गणित, भूगोल, भूगर्भशास्त्र     (इस वर्ष से कंप्यूटर साइंस भी आरंभ होगी।)   

एल एल. बी.   (कुल 120 सीट, जिनमें  60 अल्पसंख्यकों के लिये आरक्षित हैं।)

बी.एड. (कुल 50 सीट, जिनमें 25 अल्पसंख्यकों के लिये हैं। )

परास्नातक स्तर के पाठ्यक्रम -  Post Graduate Courses

एम. ए. (Master of Arts) पाठ्यक्रम - 

हिन्दी               -    60 सीट
अंग्रेज़ी              -    60 सीट
संस्कृत             -    60 सीट
अर्थशास्त्र          -   60 सीट
राजनीति शास्त्र  -  60 सीट
समाज विज्ञान   -  60 सीट
भूगोल               -  20 सीट
इतिहास             - 60 सीट 
ड्राइंग व पेंटिंग   -  20 सीट

एम. एस सी  (Master of Science) पाठ्यक्रम -

भौतिकी           -     20 सीट
रसायन शास्त्र  -     20 सीट
गणित             -     60 सीट 

एम. कॉम. (Master of Commerce) पाठ्यक्रम - 

कुल 60 सीट जिनमें 30 सीट अल्पसंख्यकों के लिये हैं। 

एम.एड. (Master of Education) पाठ्यक्रम 

कुल 20 सीट जिनमें 10 सीट अल्पसंख्यकों के लिये हैं।

उक्त पाठ्यक्रमों के अतिरिक्त इस संस्थान द्वारा पी एच. डी. (Doctorate of Philosophy) डिग्री हेतु शोध छात्रों को सभी समुचित सुविधाएं उपलब्ध हैं।   पी एच.डी. छात्रों की संख्या विश्वविद्यालय द्वारा निर्धारित की जाती है।  

स्व-वित्त पोषित पाठ्यक्रम (Self-Financed Courses)  

नियमित पाठ्यक्रमों के अलावा यह महाविद्यालय कुछ स्व-वित्त पोषित पाठ्यक्रम भी चला रहा है जो निम्न प्रकार हैं :  

कंप्यूटर साइंस -  (Computer Science) 

गृह विज्ञान - (Home Science) 

दूरस्थ शिक्षा ( Distance Education) 

यह महाविद्यालय उ. प्र. राजर्षि टंडन ओपर यूनिवर्सिटी, प्रयागराज (इलाहाबाद)  से दूरस्थ शिक्षा पाठ्यक्रमों हेतु सम्बद्ध है और यहां पर निम्न पाठ्यक्रमों हेतु प्रवेश लिया जा सकता है।  

BA,  BLIS  (पुस्तकालय विज्ञान स्नातक, MLIS (पुस्तकालय विज्ञान परास्नातक, MA  

अन्य सुविधाएं - 

बैंक शाखा,  कंप्यूटर लैब, चिकित्सा सुविधाएं, स्टाफ फ्लैट्स, इनडोर स्टेडियम,  विशाल ऑडिटोरियम,  खेल के लिये विशाल मैदान, पुस्तकालय, प्रशासनिक ब्लॉक, अतिथि गृह, कैरियर काउंसिलिंग कक्ष,  सामुदायिक केन्द्र आदि । 

यह महाविद्यालय B.Sc. (Computer Science), BCA व LL.M. के पाठ्यक्रम शीघ्र ही आरंभ करने जा रहा है। 
सचिव - मोहित जैन : 
प्राचार्य - डा. पी.के. वार्ष्णेय (कार्यवाहक प्राचार्य) 

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

जो विशेष पसन्द किये गये !